Follow by Email

26 March, 2012

अरबपति पल में हुए, विकसित हिदुस्तान -

सुबह सुबह आई खबर, एक अरब इन्सान ।
होते पल में अरबपति, विकसित हिदुस्तान ।

विकसित हिदुस्तान, इलेक्शन आया भैया ।
दलित-व्यथित अलगान, मिले माया न मैया ।

मुद्दे जाते बदल, बदलते नारे भाई ।
नेता गए सँभल, गरीबी भी विसराई ।।

5 comments:

  1. स्विस बैंक इठलात है, कैसा खिला नसीब।
    धारा दौलत की बही, भारत कहाँ गरीब?॥


    सादर।

    ReplyDelete
  2. कम संसाधन,संख्या ज़्यादा
    बचेगा जीवन,आधा-आधा!

    ReplyDelete
  3. रविकर जी प्रणाम !
    बहुत ही अच्छी
    मेरे ब्लॉग पर आने और सुन्दर काव्यात्मक टिप्पणी से नवाजने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद
    मेरा नया नारा है .... "सब झूठों की आफत है - वोट हमारी ताकत है "

    ReplyDelete
  4. बहुत खूब लिखा है.खूबसूरत अभिव्यक्ति.

    ReplyDelete