Follow by Email

15 December, 2013

मत'वाले ये चार, फतह दिल्ली कर लेते -

गोटी कर दे लाल जो, झाड़ू दिया बुहार |
हार गले में डालके, मत'वाले ये चार |

मत'वाले ये चार, फतह दिल्ली कर लेते |
खा के मीठे आम, गुठलियां पकड़ा देते |

इत रोटी भी नाँय, उधर रोटी पर बोटी |
उत डीलक्स उड़ान, भूत की इधर लँगोटी ||

2 comments:

  1. डीलक्स ? चार्टर पिलेन कहिए.....

    ReplyDelete