Follow by Email

26 February, 2016

बहू बन गई सास, मॉम के साथ लताड़ा-

निर्मल हास्य
ताड़ा जे एन यू सकल, गया हैदराबाद । 
किन्तु बहू पाई नहीं, था गहरा अवसाद । 
था गहरा अवसाद , बैठ संसद में जाए । 
बहू वहीँ दे धोय,  और पप्पू अकुलाये । 
नहीं करूँगा व्याह, कसम झट खाए पाड़ा । 
बहू बन गई सास, मॉम के साथ लताड़ा ॥

4 comments: