Follow by Email

07 March, 2012

मेरा पहला हाइकु


चूहे मुटाने ।

भूख के पूर्व डाले-

पेट में दाने ।।

13 comments:

  1. आपको सपरिवार होली की शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  2. रंगी चोली
    उठती हवा में
    करती ठिठोली !

    ..मेरा भी पहला हाइकू !

    ReplyDelete
  3. आपको सपरिवार होली की शुभकामनाएँ!!!

    ReplyDelete
  4. बधाई...होली की हार्दिक सुभकामनाएँ ...

    ReplyDelete
  5. दूसरा नहीं लिखा
    काहेकू
    पहिला बढ़िया है
    हाइकू
    ....होली की शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  6. बहुत ही बढ़िया
    आपको महिला दिवस और होली की सपरिवार हार्दिक शुभकामनाएँ।

    सादर

    ReplyDelete
  7. मैंने तो लिखे
    प्यारे, कई सारे हैं
    आप भी लिखें....

    :-)

    शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  8. आज से आपके यहाँ धन की बरसात हो,
    माँ लक्ष्मी का वास हो,
    संकटों का नाश हो,
    हर दिल पे आपका राज हो,
    उन्नति का सर पे ताज हो,
    ==== होली की हार्दिक शुभकामनायें ====-
    आप को सपरिवार होली की शुभ कामनायें .............

    "आपका सवाई "

    ReplyDelete
  9. सुन्दर सुरुचिपूर्ण, सृजन ,अभिव्यक्ति को स्वर प्रदान करता प्रभावशाली है ..... बधाईयाँ जी /

    ReplyDelete
  10. बहुत खूब .'घर में नहीं दाने ,अम्मा चली भुनाने .'

    ReplyDelete
  11. पहला रचा
    क्या खूब कही, वाह!
    बेहद रुचा

    ReplyDelete