Follow by Email

31 March, 2012

नेता दुष्ट दलाल , बना या संगी रामा -


नामा बाढ़े जेब से, बढे तिजोरी होय |

बढ़े तिजोरी से रकम, फॉरेन बैंक सँजोय | 




फॉरेन बैंक सँजोय, पूर इच्छा जगदीश्वर |

 शत-प्रतिशत हो ग्रोथ, करें कुछ धंधा मिलकर |



नेता, दुष्ट, दलाल, बना या संगी रामा |

 मन्दिर अपना  भव्य, बढ़ेगा रामा-नामा ||




7 comments:

  1. हा हा हा हा हा
    इतनी जल्दी यह रिश्वत काम कर गई |

    रामा का मन्दिर

    और अपना रामा - नामा

    ReplyDelete
  2. बहुत अच्छी प्रस्तुति!
    इस प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार के चर्चा मंच पर भी होगी!
    सूचनार्थ!
    --
    अन्तर्राष्ट्रीय मूर्खता दिवस की अग्रिम बधायी स्वीकार करें!

    ReplyDelete
  3. क्या बात है...
    सादर।

    ReplyDelete
  4. खूबसूरत है अंदाज़े बयाँ आपका .बढ़िया लाज़वाब पोस्ट .

    ReplyDelete