Follow by Email

27 April, 2012

टीसी अन्तर-फलक, बनी जो ऐबी सीडी -

ऐबी सीडी दे मचा, रोज तहलका दोस्त ।
गिद्ध निगाहें नोच लें, सड़ा-गला सा गोश्त ।

CD and DVD Duplication
 
सड़ा-गला सा गोश्त, तरीका जालिम मारू ।
"मनू सिंघ भी" शान्त, "खुदा से कम" बंगारू ।

Sting Operation.jpg
रविकर ले तू सीख, ठीक से ए बी सी डी ।
टीसी अन्तर-फलक, नहीं तो ऐबी सीडी ।। 

6 comments:

  1. वाह...बहुत सुन्दर, सार्थक और सटीक!
    आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार के चर्चा मंच पर भी होगी!
    सूचनार्थ!

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर

    ReplyDelete
  3. अच्छा हुआ कि आपने अभी तक ए बी सी डी नही सिखी थी।
    अ आ इ ई से काम जब चल रहा हो तो उसकी ज़रूरत भी क्या है?

    ReplyDelete
  4. सड़ा-गला सा गोश्त, तरीका जालिम मारू ।
    "मनू सिंघ भी" शान्त, "खुदा से कम" बंगारू ।

    क्या बात है...

    ReplyDelete
  5. सीडी काण्ड... कर दिया रवि जी ने....
    हा हा हा...

    ReplyDelete