Follow by Email

23 January, 2013

हम बिहार के लोग, हुवे जाते हैं आदी-


अंकुश फौजी बन गया, पासिंग पास परेड ।
किन्तु पकडुवा व्याह हित, किडनेप करे ब्रिगेड।

किडनेप करे ब्रिगेड, जबरदस्ती हो शादी ।
हम बिहार के लोग,  हुवे जाते हैं आदी ।

गौना अगले माह, नहीं अब कोई नाखुश ।
स्वर्ण पदक दे फौज, बहादुर फौजी अंकुश ।।
 



6 comments:

  1. प्रभावशाली ,
    जारी रहें।

    शुभकामना !!!

    आर्यावर्त
    आर्यावर्त में समाचार और आलेख प्रकाशन के लिए सीधे संपादक को editor.aaryaavart@gmail.com पर मेल करें।

    ReplyDelete

  2. दिनांक 25/01/2013 को आपकी यह पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं.आपकी प्रतिक्रिया का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर ...

    ReplyDelete
  4. किडनेप करे ब्रिगेड, जबरदस्ती हो शादी ।
    हम बिहार के लोग, हुवे जाते हैं आदी ।
    ....... ब्रिगेड साहब के ये हाल तो आम का क्या होगा?
    सोंचने वाली बात हैं ...

    ReplyDelete
  5. प्रभावी प्रस्तुति

    ReplyDelete