Follow by Email

22 October, 2013

करे मीडिया मौज, उड़ा के ख़बरें छिछली

गंडा बाँधे फूँक कर, थू थू कर ताबीज |
गड़ा खजाना खोद के, रहे हाथ सब मींज |

रहे हाथ सब मींज, मरी चुहिया इक निकली |
करे मीडिया मौज, उड़ा के ख़बरें छिछली |

रकम हुई बरबाद, निकलते दो ठो हंडा |
इक तो भ्रष्टाचार, दूसरा  प्रोपेगंडा |

9 comments:

  1. सार्थक पोस्ट हेतु आभार

    ReplyDelete
  2. सहमत .. मीडिया बस अपना खतरनाक खेल खेलता रहता है ...

    ReplyDelete
  3. रहे हाथ सब मींज, मरी चुहिया इक निकली |
    करे मीडिया मौज, उड़ा के ख़बरें छिछली ------

    वर्तमान का सच,बहुत सटीक और करारा प्रहार
    उत्कृष्ट प्रस्तुति
    सादर

    आग्रह है---
    करवा चौथ का चाँद ------

    ReplyDelete
  4. अच्‍छा व्‍यंग्‍य है।

    ReplyDelete
  5. बहुत खूब रविकर भाई।

    ReplyDelete
  6. चला रहे हैं देश को गंडा और ताबीज़ ,

    सोना मिलकर रहेगा कहते सभी हफीज .

    ReplyDelete