Follow by Email

04 October, 2013

सू सू करके क्लास में, ले मम्मी की राय

अध्यादेश वापिस लेनें में राजनितिक नौटंकी के सिवा क्या था !!

पूरण खण्डेलवाल 









सू सू करके क्लास में, ले मम्मी की राय |

"किचन कैबिनट" तोड़ के, देता बाप रूलाय |

देता बाप रूलाय, हमारे बबलू भोले |


नौटंकी के पात्र, तनिक सा ज्यादा बोले |

रही मात्र इक चाह, किस तरह मुद्दा *मूसू |


खेद-खाद बकवास, कहीं भी करता सू सू ||

*चुराकर ले भागना 

1 comment:

  1. सू सू कानों में हो रही है

    ReplyDelete