Follow by Email

11 December, 2013

करिये कुछ तो पूर्ण, समर्थन भी तो आया -

भाया आना आपका, दिल्ली में उत्साह ।
लोकतंत्र को मिल गयी, सीधी सच्ची राह । 

सीधी सच्ची राह, हाथ की खुजली मेटे । 
वायदे किन्तु अनेक, आज भी धरे लपेटे । 

करिये कुछ तो पूर्ण, समर्थन भी तो आया । 
झट-पट सत्ता थाम, आज तक हमें लुभाया ॥ 

2 comments: