Follow by Email

21 January, 2014

सम्यक रख पद-भार, मोचना हाहाकारी-

करे किरकिरी *कौतुकी, चले छोड़ के लीक |
प्राण-घातिकी कार्य यह, नहीं हमेशा ठीक |
*तमाशा दिखाने वाला 

नहीं हमेशा ठीक, चूक पड़ जाती भारी |
सम्यक रख पद-भार, मोचना हाहाकारी |

करने को एकाग्र, सतत कस'ना'ना  फिकरे |
करके वायदे गूढ़, आप क्यूँ हरदम मुकरे ||

3 comments:

  1. न जाने क्‍या है

    ReplyDelete
    Replies
    1. सर्दी में खाँसा किया, रहा कार में बैठ |
      पद सी एम् का पा गया, पद रखता है ऐंठ |
      पद रखता है ऐंठ, बैठ जाता धरने पर |
      बोले तीखे बैन, बिना मर्यादा अक्सर |
      मंत्री सीमा लांघ, उतारे जाकर वर्दी |
      सचिवालय को छोड़, सड़क पर झेले सर्दी ||

      Delete