Follow by Email

10 July, 2014

कागज़ पर तालाब, कमीशन-खोर पालिसी-

कारीगर की कर रहे, बेकारी मंजूर |
मनरेगा से दे गए, घपले का दस्तूर |

घपले का दस्तूर, हुवे मजदूर आलसी |
कागज़ पर तालाब, कमीशन-खोर पालिसी |

बच्चे डूबे चार, बताते खाताधारी | 
पटा खुदा तालाब, योजना धत सरकारी || 

8 comments:

  1. आपकी यह उत्कृष्ट प्रस्तुति कल शुक्रवार (11.07.2014) को "कन्या-भ्रूण हत्या " (चर्चा अंक-1671)" पर लिंक की गयी है, कृपया पधारें और अपने विचारों से अवगत करायें, वहाँ पर आपका स्वागत है, धन्यबाद।

    ReplyDelete
  2. जबरदस्त कटाक्ष करती और आँखें खोलने को कहती रचना यही तो है सरकारी तंत्र मन्त्र
    जय श्री राधे
    भ्रमर ५

    ReplyDelete
  3. बहुत ही गहन विचारों का प्रस्तुतीकरण सामान्य ढंग से,बहुत ही अध्भूत

    ReplyDelete
  4. मनरेगा की योजना,चोरी और दगा
    चांदी ठेकेदार की,कहता मन रे गा...

    ReplyDelete
  5. मनरेगा से दे गए घपले का दस्तूर। सही है।

    ReplyDelete