Follow by Email

12 January, 2016

बगदादी उन्माद, सड़ाये आम मालदा

 BJP highlights Malda riots' 'truth' with five questions for Mamata

मालदार माफिया नित, फैलाये आतंक । 
कैसे होगी नष्ट फिर, वह आतंकी लंक । 
वह आतंकी लंक, बंग में नाचे नंगा । 
जन गण मन को पीट, प्रगति पर लगा अड़ंगा। 
खतरनाक तकरीर, जलाये ध्वजा-सम्पदा । 
बगदादी उन्माद, सड़ाये आम मालदा ॥ 

No comments:

Post a Comment