Follow by Email

19 January, 2016

कह रविकर झुँझलाय, बनी अफवाहें हौवा-


कौआ भागा काट के, जैसे दोनों कान |
दौड़ा नारा छोड़ के, मैं तो मूर्ख समान |
मैं तो मूर्ख समान, फँसा पैजामा पग में |
करवाया नुक्सान, हंसाई सारे जग में |
कह रविकर झुँझलाय, बनी अफवाहें हौवा |
पहले पकड़ो कान, पकड़ना पीछे कौआ ||
Image result for कान

No comments:

Post a Comment