Follow by Email

25 August, 2017

गणपतयै नमः

हरि-ओम गणपतयै नमः जय रिद्धि जय जय सिद्धि जय।
बल बुद्धि विद्या के धनी गणपति जगत को दे अभय।
माता-पिता की परिक्रमा कर तुम हुए पूजित प्रथम।
शिव ब्रह्म शारद विष्णु नारद पूजते आगम निगम।

2 comments: